वेब के शब्द की बुनियादी जानकारी
यूआरएल, डोमेन, वेबसाइट वगैरह में अंतर.

जब आप अपने कारोबार या ब्रैंड को ऑनलाइन लाने का फ़ैसला करते हैं, तो आपको बहुत सारे शब्द दिखाई देने लगते हैं, जैसे कि डोमेन नाम, वेबसाइट, यूआरएल, डोमेन रजिस्ट्रार वगैरह. हालांकि, ये सभी वेबसाइट बनाने से जुड़े हैं, लेकिन इनका मतलब अलग-अलग है. खुशी की बात है कि इनके बारे में बताना आसान है. हमने यहां इनके बारे में बुनियादी जानकारी दी है. जब आपको हर शब्द के बीच का अंतर पता होगा, तब आप वेब को बेहतर ढंग से नेविगेट कर पाएंगे.

डोमेन का नाम

आसान शब्दों में कहें तो डोमेन नाम (या सिर्फ़ ‘डोमेन’) आपकी वेबसाइट का नाम है. यह ईमेल पते में “@” के बाद आता है या वेब पते में “www.” के बाद आता है. अगर कोई आपको ऑनलाइन खोजने का तरीका पूछता है, तो आप आम तौर पर उसे अपने डोमेन का नाम बताते हैं.

डोमेन के नाम के उदाहरण हैं:
google.com
wikipedia.org
youtube.com

डोमेन का नाम खरीदना, इंटरनेट पर मौजूदगी दर्ज कराने की ओर पहला कदम है. कोई भी व्यक्ति, Google Domains जैसे डोमेन होस्ट या रजिस्ट्रार से डोमेन का नाम खरीद सकता है. यहां आपको डोमेन का ऐसा नाम मिलता है जो कोई और इस्तेमाल नहीं कर रहा हो. इसका मालिकाना हक पाने और रजिस्टर करने के लिए आपको हर साल एक तय रकम देनी होती है. आप .com, .coffee या .photography जैसे डोमेन नाम के आखिरी शब्दों (या “टीएलडी”) में से अपने लिए बेहतर विकल्प चुन सकते हैं. अगर आप डोमेन का नाम खरीदना चाहते हैं, तो एक अच्छा डोमेन नाम सोचने के तरीके पर हमारी सलाह पढ़ें.

डोमेन नाम, वेबसाइट, और यूआरएल अलग-अलग चीज़ें हैं.

यूआरएल

यूआरएल (जिसे यूनिवर्सल रिसोर्स लोकेटर कहते हैं) एक पूरा वेब पता होता है जिसका इस्तेमाल कोई खास वेब पेज खोजने के लिए किया जाता है. डोमेन, वेबसाइट का नाम होता है, जबकि यूआरएल आपको वेबसाइट के किसी पेज पर ले जाता है. हर यूआरएल में डोमेन का एक नाम होता है और उसके साथ-साथ किसी खास पेज या कॉन्टेंट को खोजने के लिए इस्तेमाल होने वाले कॉम्पोनेंट होते हैं.

यूआरएल के उदाहरण:
http://www.google.com
https://en.wikipedia.org/wiki/umami
https://www.youtube.com/feed/trending

वेबसाइट

हालांकि, ये एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं, लेकिन डोमेन नाम खरीदने का मतलब यह नहीं है कि आपके पास वेबसाइट है. डोमेन किसी वेबसाइट का नाम होता है, यूआरएल की मदद से वेबसाइट को खोजा जाता है, और जब लोग उस यूआरएल से किसी पेज पर पहुंचते हैं, तो उसे वेबसाइट कहते हैं जहां लोग आपसे संपर्क कर सकते हैं. दूसरे शब्दों में, जब आप डोमेन खरीद लेते हैं, तो इसका मतलब है कि आपने वेबसाइट का नाम खरीद लिया है. हालांकि, वेबसाइट आपको खुद ही तैयार करनी होती है.

डिजिटल भाषा में, वेबसाइट को कॉन्टेंट का संग्रह कहा जाता है. इसमें कई सारे पेज, डोमेन के एक ही नाम के अंदर शामिल होते हैं. यह आपके लिए स्टोर की तरह है जहां डोमेन, स्टोर का नाम होता है और यूआरएल, स्टोर का पता. साथ ही, वेबसाइट वह स्टोर है जहां सभी उत्पाद और कैश रजिस्टर होते हैं.

अच्छी बात यह है कि वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया बहुत आसान और तेज़ है. यह किसी दुकान या ऑफ़िस खोलने से ज़्यादा किफ़ायती है. आज ऐसी कई बेहतरीन कंपनियां हैं जिनकी मदद से कोई भी व्यक्ति कुछ ही घंटों में अच्छी और पेशेवर दिखने वाली वेबसाइट तैयार कर सकता है. ज़्यादातर मामलों में तो इसके लिए आपको डिज़ाइन या कोड सीखने की भी ज़रूरत नहीं होती. अपनी साइट बनाने के बारे में ज़्यादा जानने के लिए, वेबसाइट बनाने वाली सेवा चुनने का तरीकापर हमारी पोस्ट देखें.

वेबसाइट बनाने के लिए, आपको कुछ चीज़ों की ज़रूरत होती है:

  1. डोमेन का नाम (जैसे कि yoursite.com)
  2. डोमेन रजिस्ट्रार और होस्ट (जैसे कि Google Domains)
  3. खुद वेबसाइट बनाने वाली सेवा, जैसे कि SquareSpace, Wix या कोई वेब डिज़ाइनर
  4. डिजिटल कॉन्टेंट—टेक्स्ट, इमेज, वीडियो, और ऐसे दूसरे मीडिया जिन्हें लोग आपकी साइट पर आने के बाद देखेंगे.

डोमेन रजिस्ट्रार

डोमेन रजिस्ट्रार वह कंपनी होती है जो डोमेन के ऐसे नाम बेचती है जिनका मालिकाना हक किसी के पास न हो. साथ ही, जो आपके रजिस्टर करने के लिए उपलब्ध हों. डोमेन रजिस्ट्रार के पेज पर एक बार खोज करने से, आपको पता चल जाएगा कि आपका पसंदीदा डोमेन उपलब्ध है या नहीं और उसकी कीमत क्या है.

डीएनएस होस्ट

डीएनएस होस्ट वह कंपनी होती है जो आपके डोमेन का कॉन्फ़िगरेशन प्रबंधित करती है (इसे डीएनएस संसाधन रिकॉर्ड भी कहा जाता है). इसकी मदद से आपके डोमेन का नाम, आपकी वेबसाइट और ईमेल पर ले जाता है. ज़्यादातर डोमेन होस्ट, डोमेन के नाम के रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी देते हैं.

डोमेन रजिस्ट्रार को निजता की सुरक्षा सुविधा मुफ़्त में उपलब्ध करवानी चाहिए.

WHOIS और RDAP डायरेक्ट्री

WHOIS और RDAP डायरेक्ट्री, डोमेन के नामों और उनसे जुड़े लोगों या संगठनों की सार्वजनिक सूचियां हैं. आप डायरेक्ट्री का इस्तेमाल डोमेन के मालिकों और आईपी पतों के साथ-साथ डाक पतों और टेलीफ़ोन नंबर खोजने के लिए कर सकते हैं.

निजता की वजह से, कुछ डोमेन के नामों के मालिक, इन डायरेक्ट्री से अपनी निजी जानकारी छिपा देते हैं. ठीक उसी तरह, जैसे कभी-कभी आप टेलीफ़ोन डायरेक्ट्री में अपना निजी टेलीफ़ोन नंबर सबके लिए उपलब्ध कराना पसंद नहीं करते.

अब आपको वेब के बुनियादी शब्दों के बीच का अंतर पता है. साथ ही, आप जानते हैं कि कारोबार और ब्रैंड को ऑनलाइन लाने में इन सबका क्या काम है. Google Domains में, हम चाहते हैं कि सभी लोग अपने कारोबार को ऑनलाइन विकसित करने के लिए, इनके बारे में जानकारी रखें. साथ ही, वे सुरक्षित और सशक्त अनुभव करें.

क्या आप ऑनलाइन आने को तैयार हैं? domains.googleपर अपने डोमेन का नाम खोजना शुरू करें.

आइए शुरू करें